Home धर्म ये संकेत बताते हैं आप के घर आने वाली हैं विपत्तियां

ये संकेत बताते हैं आप के घर आने वाली हैं विपत्तियां

19
0

शुभ-अशुभ संकेतों के बारे में हमने कई बार सुना है लेकिन वास्तुशास्त्र के अनुसार भी कुछ ऐसे संकेत होते है जिन्हे हम अशुभ मानते हैं और ऐसे संकेत हमें आने वाली विपत्तियों के बारे में पूर्व आभास करवा देते है। ऐसे संकेत हमें बताते हैं कि जिस काम को आप करने जा रहे हैं वे सफल होंगे या नहीं, इसी के साथ ये आपके आने वाले बुरे समय की तरफ भी इशारा करते हैं। आइए जानते हैंए कौन से इशारे हमें दिखाते हैं अशुभ संकेत

 

 

shubh ashubh sanket

1. भवन के सामने कोई कुत्ता भवन की ओर मुख करके रोए तो निश्चय ही घर में कोई विपत्ति आने वाली है या ये किसी की मृत्यु का संकेत देता है।
2. जिस घर में बिल्लियां लड़ती रहती हैं वहां विवाद की संभावना रहती है, और पारिवारिक मदभेद बढ़ता है।
3. घर में मकड़ी के जाले नहीं होने चाहिए, वे अशुभ माने जाते हैं।
4. घर में चमगादड़ों का वास बहुत अशुभ संकेत देता है।
5. जिस घर के आंगन में कोई पक्षी घायल होकर गिरे वहां दुर्घटना होती है।
6. जिस घर की छत पर कौए या उल्लू घोर शब्द करें तब वहां अचानक विपत्तियां आती है।
7. अगर आप किसी भूमि की खुदाई कर रहे हैं और वहां कोई मृत जीव, खासकर सर्प दिख जाए तो आपके बुरे समय को दर्शाता है। वहीं अगर भूमि की खुदाई करते हुए राख या हड्डी जैसी वस्तुएं मिलती हैं तो यह पहचान है कि आपके ऊपर कोई अनजाना खतरा मंडरा रहा है।
8. जिस घर में लाल चींटियां आती हैं तो यह बड़े नुकसान के होने का संकेत है।
9. अगर आपके घर में दीमक आ गई है या मधुमक्खी ने अपना छत्ता बना लिया है तो यह बताता है कि घर के मुखिया को असहनीय पीड़ा का सामना करना सकता है।
10. घर में अचानक काले चूहों के आने-जाने की संख्या में अचानक से वृद्धि हो जाए, तो यह जल्द ही आने वाली
विपत्तियों की ओर इशारा करता है।

shubh ashubh sanket

शास्त्र के हिसाब से घर की उत्तर दिशा खुली हुई है नहीं होनी चाहिए, यदि आपके घर की उत्तर दिशा खुली है तो यह समस्याओं को निमंत्रण देती है, इसलिए यह खास ध्यान रखें कि आपके घर की यह दिशा बंद हो या कम से कम इस ओर कोई द्वार ना खुलता हो। वहीं अगर आपके घर का मुख्य द्वार बहुत ज्यादा बड़ा या खुला हुआ है तो ऐसा होने पर घर के लोगों को कई दुखद हालातों का सामना करना पड़ सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here