Home देश दिल्ली : क्राइम ब्रांच ने हिंसा करने की फोटो की जारी

दिल्ली : क्राइम ब्रांच ने हिंसा करने की फोटो की जारी

277
0

नई दिल्ली । गणतंत्र दिवस के मौके पर ट्रैक्टर रैली के बीच विभिन्न इलाकों में हिंसा करने वाले एक दर्जन से ज्यादा आरोपितों की तस्वीर दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच द्वारा जारी की गई है। पुलिस की तरफ से यह कहा गया है कि तस्वीर में दिख रहे लोग हिंसा में शामिल हैं। इनके बारे में कोई भी जानकारी पुलिस के साथ साझा कर लोग जांच में मदद करें। इसके साथ ही दिल्ली पुलिस ने करीब 100 लोगों को पूछताछ के लिए नोटिस भी जारी किया है।

क्राइम ब्रांच के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार, बीते 26 जनवरी को किसान संगठनों द्वारा ट्रैक्टर रैली का आयोजन किया गया था। इस दौरान दिल्ली के विभिन्न इलाकों में आंदोलनकारियों द्वारा हिंसा को अंजाम दिया गया। इसके चलते अबतक 44 से ज्यादा एफआईआर दर्ज की गई है और 122 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है। इनमें से 9 मामलों की जांच दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच द्वारा की जा रही है। दिल्ली पुलिस ने 12 लोगों की तस्वीर देर रात जारी की है जो इस हिंसा के दौरान शामिल थे। दिल्ली पुलिस ने लोगों से इनकी पहचान करने में मदद मांगी है ताकि इनके खिलाफ कर्रवाई की जा सके।

60 लोगों के खिलाफ एलओसी जारी
दिल्ली पुलिस के अनुसार, गणतंत्र दिवस की ट्रैक्टर रैली हिंसा को लेकर पुलिस किसान नेताओं से भी जल्द पूछताछ करेगी। हालांकि अभीतक कोई भी किसान नेता पूछताछ के लिये नहीं आया है। वहीं 20 किसान नेताओं सहित कुल 60 लोगों के खिलाफ दिल्ली पुलिस द्वारा एलओसी जारी की गई है। इसमें उस दीप सिंधु का नाम भी शामिल है जो लाल किले पर झंडा फहराने के दौरान मौजूद था। पुलिस का कहना है कि यह लोग देश से बाहर न जा सके इसके चलते यह एलओसी जारी की गई है।

100 से ज्यादा लोगों को नोटिस
दिल्ली पुलिस ने 100 से ज्यादा लोगों को पूछताछ के लिए नोटिस भी भेजा है। इनमें यूपी, हरियाणा और पंजाब के लोग शामिल हैं। इन लोगों की जानकारी दिल्ली पुलिस को उन ट्रैक्टरों से मिली है जो परेड में शामिल हुए थे। इसके आधार पर दिल्ली पुलिस ने उनके मालिकों का नाम निकाला है और उन्हें पूछताछ के लिए बुलाया है। उन्हें पूछताछ में शामिल होने के लिए पांच से 10 दिन का समय दिया गया है। पुलिस का कहना है कि अगर उनकी भूमिका पाई जाएगी तो इस मामले में उनकी गिरफ्तारी हो सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here