Home राजनीति पीएम मोदी के मार्गदर्शन में तैयार हुई है बुंदेलखंड के समग्र विकास...

पीएम मोदी के मार्गदर्शन में तैयार हुई है बुंदेलखंड के समग्र विकास की कार्ययोजना: मुख्यमंत्री

122
0

चित्रकूट। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि देश को आजादी 1947 में मिल गई लेकिन भगवान श्रीराम की तपोस्थली बुंदेलखंड के पक्ष में पलायन, बेरोजगारी, सूखा, धर्म स्थलों पर कब्जा वन्य एवं प्राकृतिक संपदा पर डकैतों, माफियाओं का कब्जा रहा। सत्तर के दशक में बनी योजनाएं आज तक पूरी नहीं की गईं। नेताओं के घर बने, उनके बच्चे विदेश पढ़ने गए लेकिन बुंदेलखंड की गरीबी नहीं गई थी। बुंदेलखंड के विकास का पैसा चंद लोगों की जेब में जाता रहा। चंद लुटेरे बुंदेलखंड को कंगाल कर खुद मालामाल होते रहे। मोदी-योगी की सरकार में अब ऐसा नहीं हो सकता। यदि किसी ने ऐसा किया तो उसकी वही दुर्गति होगी जैसी डकैतों और माफियाओं हुई।

मुख्यमंत्री बुधवार को धर्मनगरी चित्रकूट में रसिन बांध परियोजना एवं चिल्लीमल पंप नहर परियोजना का लोकार्पण करने के बाद उपस्थित जनसमूह को संबोधित कर रहे थे। सीएम योगी ने कहा कि इन परियोजनाओं से 5000 हेक्टेयर भूमि को जल की उपलब्धता सुनिश्चित होगी। दोनों परियोजनाएं यहां की धरती से सोना उगलवाने का कार्य करेंगी। अब यहां के किसान दो से तीन फसल भी ले सकेंगे। उन्होंने किसानों से आग्रह किया कि आप ड्रिप इरिगेशन से जुड़िए ताकि आपकी 5000 हेक्टेयर फसल 15000 हेक्टेयर में बदल जाए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बुंदेलखंड का समग्र विकास हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन में हमने बुंदेलखंड के लिए ऐसी समग्र कार्ययोजना तैयार की है कि यहां विकास के साथ ही बेरोजगारी दूर होगी। बड़े उद्योग धंधों की स्थापना की जाएगी। हर घर को नल से जल उपलब्ध होगा। बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे के माध्यम से रोड की शानदार कनेक्टिविटी मिलेगी तो जल्द ही हम यहां से हवाई सेवा भी शुरू करने जा रहे हैं। अब यहां की प्राकृतिक संसाधनों का माफिया दोहन नहीं करने पाएंगे। यहां का पैसा यहीं के विकास पर खर्च होगा।

देश की छवि खराब करने वाले गुमराह कर रहे अन्नदाता को :मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री ने राजनीतिक विरोधियों को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि अन्नदाता किसानों को गुमराह करने के पीछे वही लोग शामिल हैं जो मोदी सरकार की लोकप्रियता से घबराकर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर देश की छवि खराब करते रहते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि जो लोग पूछते हैं कि मोदी-योगी ने किसानों के लिए क्या किया, उन्हें इस बात का भी जवाब देना चाहिए की सत्तर के दशक से लंबित परियोजनाएं क्यों नहीं पूरी हुईं। किसानों को और जनता को गुमराह करने वालों से दो टूक पूछने की जरूरत है कि जब उन्हें सत्ता का अवसर दिया गया तो उन्होंने क्या किया? ऐसे लोग विकास कार्यों के लिए पैसा ही नहीं देते थे। पैसा दिया भी तो परिवार के लोगों को ठेका देकर उसका बंदरबांट कर लेते थे। उन्होंने कहा कि 2014 में मोदी जी पीएम बने तो उन्होंने उस समय की राज्य सरकार से कहा कि विकास के लिए पैसा ले जाओ। तबकी सरकार पैसा लेने ही नहीं गई। 2017 में हमारी सरकार बनी तो हमने एकमुश्त पैसा लिया और विकास कार्यों को तेजी से आगे बढ़ाया। आज जिन परियोजनाओं की सौगात मिली है, उनकी फोटो अपने स्मार्टफोन में लेकर जाइए और सवाल पूछने वालों को दिखाइए कि अपने कृत्यों देखो जिसे मोदी- योगी की सरकार ने पूरा किया है। उन्होंने कहा कि भोलेभाले अन्नदाता के कंधे पर बंदूक रखकर भारत के विकास को अवरुद्ध करने वालों को करारा जवाब देने की जरूरत है। सीएम योगी ने कहा कि किसानों को बरगलाया जाता है कि कॉन्ट्रैक्ट खेती से जमीन बंधक बना ली जाएगी। यह कोरी कल्पना है। उन्होंने कहा कि वैद्यनाथ समूह ने हर्बल प्रोजेक्ट में यहीं के किसानों से माल खरीदने का कार्य किया। किसी की जमीन कब्जा नहीं की ,बल्कि लोगों को मुनाफा दिया । सरकार किसानों के हित के लिए प्रतिबद्ध है और एमएसपी जारी रहेगी।

जिस धरा ने भगवान श्रीराम को शरण दिया वह आजादी के बाद भी प्यासी रही

मुख्यमंत्री ने कहा कि चित्रकूट की धरती ऋषि-मुनियों के तप से लोक कल्याण का मार्ग प्रशस्त करने वाली रही है। यह वह धरती है जिसने वनवास काल में प्रभु श्रीराम को शरण दिया। देश के आजाद होने के 70 दशक बाद भी किया धरती प्यासी रहे, यह कैसे हो सकता है। इसी को ध्यान में रखकर पीएम मोदी के मार्गदर्शन में हमने हर घर को पाइप से शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने की कार्ययोजना बनाई है। इसके साथ ही बांध व नहर परियोजना के माध्यम से हर खेत को पानी देने की व्यवस्था भी की गई है।

पीएम मोदी के विजन से स्वर्गतुल्य हो गई बुंदेलखंड की धरती

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भगवान श्रीराम की तप व साधनास्थली, अध्यात्म और वीरों की भूमि चित्रकूट को नमन करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विजन से बुंदेलखंड की धरती स्वर्गतुल्य हो गई है। उन्होंनेकहा कि त्रेता युग में भगवान श्रीराम ने लक्ष्मण से कहा था “जननी जन्मभूमिश्च स्वर्गादपि गरीयसी।” आज इसके दर्शन करने हो तो बुंदेलखंड इसका साक्षात उदाहरण है। हमारी सरकार बुंदेलखंड को भगवान श्रीराम के भाव के अनुरूप स्वर्ग जैसा बनाने का कार्य कर रही है। चार वर्षों में चित्रकूट में धार्मिक पर्यटन के विकास का कार्य किसी से छुपा नहीं है। पूरे बुंदेलखंड में सर्वत्र कुछ ना कुछ परिवर्तन दिखाई दे रहा है। चित्रकूट को देश की राजधानी दिल्ली से जोड़ने के लिए बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का निर्माण 50 प्रतिशत पूरा हो चुका है। आने वाले दिनों में दिल्ली की दूरी 5.30 से 6 घंटे में पूरी की जा सकेगी।हर जिले में औद्योगिक क्लस्टर विकसित किए जा रहे हैं, इससे नौजवानों को व्यापक रोजगार मिलेगा। बुंदेलखंड के डिफेंस कॉरिडोर में बनने वाली तोप और फाइटर प्लेन दुश्मन की छाती पर मूंग दलने का कार्य करेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण था कि जिस इस धरती ने लोक कल्याण का मार्ग प्रशस्त किया, वहां के लोग भ्रष्टाचार के साए में जीने को मजबूर थे।

विकास का मॉडल और रोजगार का माध्यम बेनगी हर घर नल से जल योजना

सीएम योगी ने जल जीवन मिशन के तहत हर घर नल से जल योजना की खूबियां गिनाते हुए कहा कि यह योजना विकास का मॉडल ही नहीं बल्कि रोजगार सृजन का माध्यम भी बनेगी। उन्होंने बताया कि अधिकारियों को इस बात के निर्देश दिए गए हैं कि स्थानीय युवाओं को उनकी पढ़ाई डिग्री और कार्यक्षेत्र की कुशलता के अनुरूप जल जीवन मिशन के तहत रोजगार से जोड़ा जाए।

कोल जाति के लोगों को पीएम-सीएम आवास योजना में देंगे मकान

मुख्यमंत्री ने चित्रकूट में कोल जाति के लोगों को प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत मकान देने की घोषणा भी की। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार वनटांगिया और थारू लोगों को मकान की सुविधा दी गई है उसी प्रकार की सुविधा यहां के कोल जाति के लोगों को भी दी जाएगी। सीएम ने बताया कि उनकी सरकार प्रवासी मजदूरों को दो लाख रुपये जीवन बीमा व पांच लाख रुपये के स्वास्थ्य सुरक्षा बीमा का कवर भी दे रही है। मुख्यमंत्री ने जोर देकर कहा वृद्धावस्था, विधवा व दिव्यांग पेंशन योजना में हर पात्र को लाभ सुनिश्चित किया जा रहा है। किसानों को आयुष्मान योजना में कवर करने के साथ ही बटाईदार को भी कृषक दुर्घटना बीमा का लाभ मिलना सुनिश्चित किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने हर न्याय पंचायत स्तर पर गोशाला खोलने की जानकारी देते हुए कहा कि सरकार की इस योजना से जुड़कर किसान अतिरिक्त आय अर्जित कर सकते हैं। यदि कोई किसान चार गोवंश पालेगा तो उस परिवार को प्रति गोवंश 900 रुपया अर्थात 3600 रुपये की नई आमदनी मिलेगी। उन्होंने बताया कि यदि किसी गांव में कोटे की दुकान विवादित है तो उसका संचालन महिला स्वयंसेवी समूह द्वारा किया जाएगा। साथ ही बाल पुष्टाहार का वितरण भी ऐसी ही समूहों से कराया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने महिला स्वावलंबन के अपने एजेंडे को धार देते हुए कहा कि बलिनी मिल्क प्रोड्यूसर के तर्ज पर लोगों को सरकार अतिरिक्त धनराशि देकर स्वावलंबन को बढ़ाया देगी। मुख्यमंत्री ने अभ्युदय योजना और गांव में बेहतर रोड कनेक्टिविटी का भी उल्लेख किया।

वैदिक मंत्रोच्चार के बीच सीएम ने किया लोकार्पण, रसिन बांध पर ली सेल्फी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चित्रकूट जनपद के रसिन बांध परियोजना का लोकार्पण वैदिक मंत्रोच्चारके बीच विधि विधान से किया। लोकार्पण के बाद सीएम योगी ने बांध का निरीक्षण किया और सेल्फी भी ली। इस अवसर पर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, जल शक्ति मंत्री डॉ महेंद्र, सिंह नागरिक उड्डयन मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी समेत कई लोग मौजूद रहे।

दतिया पीतांबरा पीठ में सीएम योगी ने किया पूजन
बुधवार सुबह बुंदेलखंड में विकास परियोजनाओं की सौगात देने से पूर्व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मध्य प्रदेश के दतिया जनपद में स्थित मां पीतांबरा माई के दर्शन किए। सीएम ने पीतांबरा पीठ में पूजन कर लोक कल्याण की कामना की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here