Home गुजरात पोस्को कोर्ट ने केवल 5 दिन में दुष्कर्म के दोषी सुनाई सजा

पोस्को कोर्ट ने केवल 5 दिन में दुष्कर्म के दोषी सुनाई सजा

4
0

सूरत। सूरत की पोस्को कोर्ट ने गुरुवार को ऐतिहासिक और दुष्कर्मियों को चेतावनी देने वाला महत्वपूर्ण फैसला सुनाया। कोर्ट ने केवल पांच दिनों की सुनवाई के बाद 4 साल की मासूम बच्ची के साथ दुष्कर्म के आरोपी को दोषी करार देते हुए ताउम्र कैद की सजा सुना दी। पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने के लिए कोर्ट में रात 11 बजे तक सुनवाई होती रही।

घटना 12 अक्टूबर 2021 की है, जब सूरत के सचिन जीआईडीसी के निकट 39 वर्षीय हनुमान उर्फ अजय निषाद घर लौट रहा था। रात करीब 9 के दौरान 4 साल की मासूम बच्ची अन्य बच्चों के साथ खेल रही थी। बच्ची को देख हनुमान उर्फ अजय की वासना जाग उठी। बच्ची को बहला फुसलाकर हनुमान झाडियों में ले गया और उसके साथ दुष्कर्म किया| दुष्कर्म के बाद बच्ची को वहीं रोती हुई छोड़कर अपने घर चला गया। रोते रोते अपने घर पहुंची बच्ची की हालत देख परिवार उसे अस्पताल ले गया। जहां मेडिकल जांच में बच्ची के साथ दुष्कर्म का खुलासा हुआ। इस खुलासे के बाद पुलिस ने अलग अलग टीमें बनाकर आरोपी की तलाश शुरू की थी।

पुलिस की एक टीम को सीसीटीवी फूटेज में एक संदिग्ध शख्स को देखा और कड़ी मसक्कत के बाद आरोपी हनुमान उर्फ अजय निषाद को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में आरोपी ने अपराध कबूल किया था। घटना के 10 दिनों में पुलिस ने कोर्ट में चार्जशीट पेश कर दी| 26-27 अक्टूबर को घटना के सभी सबूत अदालत के समक्ष पेश कर दिए गए। इस मामले में कोर्ट का भी पूरा सहयोग मिला।

पोक्सो कोर्ट ने दफा 363 के मुताबिक मासूम बच्ची के साथ दुष्कर्म के आरोपी को अपराधी करार देते हुए 7 साल की सामान्य कैद और 1 हजार रुपए जुर्माना, दफा 307 के तहत पांच साल की सामान्य कैद और 1 हजार रुपए जुर्माना, दफा 323 के तहत एक वर्ष की सामान्य कैद और 1 हजार का जुर्माना, दफा 376 के अंतर्गत उम्रकैद और 1 लाख रुपए जुर्माना तथा जुर्माना नहीं भरने पर 2 वर्ष की अतिरिक्त सजा का आदेश दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here