राज्य

जयपुर: जेल कर्मियों के हथियारों में लगा जंग, अब 3 हजार नए हथियारों की रखी मांग

जयपुर: जेल में प्रहरियों और जेलकर्मियों के ट्रेनिंग या सुरक्षा के लिए हथियार जंग लगे हुए हैं. इनमें प्रचलन से बाहर हो चुकी 410 बोर मस्कट राइफल रखी हुई है. जेल महानिदेशालय ने पिछले दिनों 410 मस्कट राइफल को अनुपयोगी बताते हुए इसके एम्युनेशन बाजार में नहीं मिलने की बात की थी. साथ ही इनके एवज में 3 हजार आधुनिक हथियार देने की मांग की थी. 

जी मीडिया ने जेल में जंग लगे हथियारों की खबर चलाई थी. इसके बाद सरकार ने इसकी प्रक्रिया में तेजी शुरू की. इधर पुलिस मुख्यालय ने 410 बोर मस्कट के 220715 एम्युनेशन अनुपयोगी होने के बारे में गृह विभाग को पत्र लिखा. पत्र में उन्होंने बेकार पड़े इस एम्युनेशन को जेल प्रशासन को देने की सहमति दी. 

पुलिस मुख्यालय ने अपने प्रस्ताव के साथ हवाला दिया कि आबकारी में 125 नग गैसगन पड़ी थी. आबकारी ने इन गैसगनों को पुलिस को नि:शुल्क उपलब्ध कराया था. ऐसे में पुलिस मुख्यालय भी कारागार महकमे को 410 बोर मस्कट के एम्युनेशन निशुल्क उपलब्ध करा सकता है. इसके बाद गृह विभाग ने पीएचक्यू को एम्युनेशन जेल महकमे को सुपुर्द करने के आदेश जारी कर दिए. पुलिस मुख्यालय जेल महकमे को एम्युनेशन दे देगा, लेकिन सवाल वहीं आकर ठहर गया है कि जंग लगे पुराने हथियारों के भरोसे ही जेलों की सुरक्षा होगी. 

Surat Darpan

Admin Of Surat Darpan. Always Giving Latest News In Hindi.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close