दुनिया

नेपाल में हर दस व्यक्तियों में एक का होता है बाल विवाह: रिपोर्ट

काठमांडूः नेपाल दुनिया के उन दस शीर्ष देशों में एक है जहां लड़कों में बड़े पैमाने पर बाल विवाह का प्रचलन है. संयुक्त राष्ट्र बाल कोष ने बाल दूल्हों पर अपने पहले गहन विश्लेषण में यह बात कही है.

यूनीसेफ ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि नेपाल में 20 से 24 साल तक की उम्र के हर दस लोगों में एक का बाल विवाह होता है. 

इस अध्ययन में 82 देशों के आंकड़े के आधार पर खुलासा किया गया है कि उप सहारा अफ्रीका से लेकर लातिन अमेरिका, कैरिबियाई, दक्षिण एशिया, पूर्व एशिया और प्रशांत महासागर क्षेत्र तक दुनिया भर में कई देशों में लड़कों के बीच बाल विवाह का प्रचलन है.

यूनीसेफ की कार्यकारी निदेशक हेररीट्टा फोरे ने कहा, ‘‘ विवाह बचपन चुरा लेता है. बाल दूल्हों को बालिगों की जिम्मेदारी उठाने के लिए बाध्य होना पड़ता है जिसके लिए वे शायद तैयार नहीं होते हैं.’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘बाल विवाह से पितृत्व शीघ्र आता है और इसी के साथ परिवार की जिम्मेदारी आ जाती है ओर ऐसे में वे शिक्षा एवं नौकरी के अवसरों से वंचित रह जाते हैं.’’ 

आंकड़े के अनुसार सेंट्रल अफ्रीकन रिपब्लिक में पुरूषों के बीच सबसे अधिक बाल विवाह (28 फीसद) है, उसके बाद निकारगुआ 19 फीसद के साथ दूसरे एवं मेडागास्कर 13 फीसद के साथ तीसरे नंबर पर हैं.

रिपोर्ट के अनुसार नेपाल इस रैकिंग में दसवें पायदान पर है. वह दक्षिण एशिया में एकमात्र ऐसा देश है जहां लड़के और लड़कियों के बीच बड़े पैमाने पर बाल विवाह होता है.

नये आकलन के अनुसार बाल दूल्हों और दूल्हन की कुल संख्या 76.5 करोड़ हैं.  

Surat Darpan

Admin Of Surat Darpan. Always Giving Latest News In Hindi.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close